ई-शासन

सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) के प्रचार और राष्ट्रीय ई-शासन योजना (एनईजीपी) के तहत विभिन्न ई-गवर्नेंस कार्यक्रमों को सफलतापूर्वक कार्यान्वित करके पूर्वी चंपारण जिला बिहार के जिलों के बीच अग्रणी है।

ई-शासन सड़क नक्शा

निस्संदेह ई-शासन किसी भी नागरिक केंद्रित, पारदर्शी और प्रभावी शासन प्रणाली के लिए एक शक्तिशाली उपकरण के रूप में उभरा है। कुंजी बुनियादी ढांचे और जगह में नीतियों के साथ, केंद्र और बिहार सरकार आक्रामक तरीके से अपनी-अपनी वेबसाइट के माध्यम से प्रदर्शन और कार्यात्मक विभागों और उनके अधीनस्थ संगठनों की बड़ी संख्या की जानकारी के प्रकटीकरण के माध्यम से नागरिक के साथ जानकारी साझा करने को बढ़ावा दिया है। जिला वेबसाइट https://eastchamparan.nic.in/ नागरिकों को प्रशासन के विभिन्न पहलुओं पर जानकारी प्रदान करती है।

पूर्वी चंपारण के जिला प्रशासन ने स्वयं को एनईजीपी दृष्टि के साथ गठबंधन किया है  ” सामान्‍य सेवा प्रदायगी आउटलेट के जरिए आम आदमी को उसके आसपास सभी सरकारी सेवाएं मुहैया कराना और आम आदमी की आधारभूत जरूरतों को पूरा करने के लिए वहनीय लागतों पर ऐसी सेवाओं की दक्षता, पारदर्शिता और विश्‍वसनीयता सुनिश्चित करना’’

वर्ष 2023 तक, सरकारी सेवाओं को कहीं भी से या आसपास के सामान्य सेवा वितरण आउटलेट, मोबाइल प्लेटफ़ॉर्म, हैंडहेल्ड डिवाइस इत्यादि से ऑनलाइन पहुंचाने हेतु लक्ष्य निर्धारित किया गया है जिससे नागरिकों को सभी सरकारी सेवाओं का आसानी से लाभ उठाने में मदद मिलें और सेवाओं की डिलीवरी में जवाबदेही, पारदर्शिता और दक्षता बढ़े।

जिला ई-गवर्नेंस सोसाइटी (डीईजीएस)

जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में जिला ई-गवर्नेंस सोसाइटी का गठन जिला स्तर पर ई-गवर्नेंस पहलों को लागू करने के लिए किया गया है। वे सभी हितधारकों के लिए क्षेत्र स्तर पर सेवाओं पर चर्चा और वितरण करने के लिए एक मंच प्रदान करता है। ई-गवर्नेंस सोसाइटी अन्य कार्यान्वयन सहायता एजेंसियों के साथ मिलकर जिला स्तर पर ई-शासन गतिविधियों की निगरानी करेगा।